Amangarh

Bordering the famed Corbett National Park in Uttarakhand, the 80 sq km Amangarh range is seen as an extension of and buffer to the Corbett tiger reserve. There are no human settlements and the forest is still pristine and dense.

Visitor Attractions

Pristine Forest, Water Bodies, Tiger, Elephant

अमानगढ़ ईकोपर्यटन विकास योजना

ईकोपर्यटन के दृष्टिकोण से अमानगढ़ क्षेत्र का महत्व
जनपद बिजनौर का जनक्षेत्र हिमालय की तलहटी में तराई ईकोसिस्टम का उदाहरण है । जनपद के वृहद जनक्षेत्र का प्रबंधन प्रभावी ढं़ग से करने के लिये उत्तर प्रदेश वन विभाग के दो वन प्रभाग, बिजनौर वृक्षारोपण वन प्रभाग, मुख्यालय नजीबाबाद तथा सामाजिक वानिकी प्रभाग, बिजनौर, मुख्यालय बिजनौर कार्यरत है। सामाजिक वानिकी प्रभाग, बिजनौर में नगीना, धामपुर, नजीबाबाद, बिजनौर, चाॅदपुर एवं अमानगढ़ कुल 6 वन रेंज है जिनके वन क्षेत्रों का कुल क्षेत्रफल 12,229.5 हैक्टेयर है। अमानगढ़ रेंज का कुल वन क्षेत्र 9,542.38 हैक्टेयर में से 8,050.00 हैक्टेयर क्षेत्रफल को शासनादेश संख्या-1481/14.04.2012-857/2008, लखनऊ, दिनांक-21.07.2012 के द्वारा कार्बेट पार्क के बफर जोन के रूप में अमानगढ़ रिजर्व घोषित किया गया है । उत्तर प्रदेश में ईकोपर्यटन कार्यक्रम केा प्रोत्साहित करने के लिये प्रमुख वन संरक्षक उत्तर प्रदेश के पत्रांक-2186/38-2(ईकोटूरिज्म) दिनांक-25 जून 2014 के द्वारा चिन्हित किये गये जनपदों में जनपद बिजनौर भी सम्मिलित है । शासनादेश संख्या-1663/14-4-2013-509/2013 लखनऊ, दिनांक-29.08.2013 के द्वारा उत्तर प्रदेश वन निगम को उत्तर प्रदेश में ईकोपर्यटन सम्बन्धी कार्य को प्रोत्साहन देने यथा ईकोपर्यटन सम्बन्धी कार्यो के नियोजन, निरूपण एवं क्रियान्वयन हेतु नोडल एजेन्सी नामित किया गया । इसी क्रम में उत्तर प्रदेश ईकोटूरिज्म पालिसी (नीति) 2014, शासनादेश संख्या-3251/14.04.2014/509/2013 ज्ब्/वन अनुभाग-4ः लखनऊ, दिनांक-07.08.2014 के द्वारा उत्तर प्रदेश में ईकोपर्यटन के विकास हेतु उत्तर प्रदेश वन विभाग को नोडल विभाग तथा उत्तर प्रदेश वन निगम को नोडल एजेन्सी नामित किया गया । प्रमुख वन सरंक्षक, उत्तर प्रदेश के पत्रांक-2187/38-2(ईकोटूरिज्म), दिनांक-25 जून 2014 के द्वारा प्रभागीय वनाधिकारियोें/ प्रभागीय निदेशकों को निर्देश दिये गये कि उत्तर प्रदेश वन निगम द्वारा अनुरोध किये जाने पर वन विभाग के विभिन्न परिसरों यथा, वन विश्राम भवन, रेंज कार्यालय, रेंज आवास में उपलब्ध रिक्त स्थानों पर नितान्त अस्थायी टेन्ट लगाने की अनुमति प्रदान कर दी जाये । संरक्षित क्षेत्रों में ईको पर्यटन सुविधाओं का विकास उत्तर प्रदेश वन निगम द्वारा प्रमुख वन संरक्षक, वन्य जीव उत्तर प्रदेश/ मुख्य वन्य जन्तु प्रतिपालक की अनुमति प्राप्त कर किया जाये ।
उक्त के क्रम में जनपद बिजनौर में ईकोपर्यटन के विकास हेतु वन विभाग एवं वन निगम के अधिकारियों की बैठक में बिजनौर सामाजिक वानिकी प्रभाग में ईकोपर्यटन विकास हेतु अमानगढ़ रेंज के वन क्षेत्र में उपलब्ध 5 हेक्टेअर रिक्त स्थान कैम्प साइट तैयार करने के लिये उत्तर प्रदेश वन निगम को उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया ।

अमानगढ़ रेंज का ब्लाकवार क्षेत्रफल एवं वन प्रकार निम्नवत् है-

सामाजिक वानिकी प्रभाग, बिजनौर के अन्तर्गत आरक्षित वन अमानगढ़ रेंज है। इस रेंज का ब्लाकवार क्षेत्रफल एवं वन प्रकार निम्नवत् हैः-

 

योग- 9542.38
क्र.सं. वन ब्लाक क्षेत्रफल(हैक्टे.) वन प्रकार क्रिया कलाप
1. मोहम्मद अलीपुर पट्टाघाट 255.78 जलौढ़ तृण स्थली एवं उत्तरी उष्ण शुष्क मिश्रित पर्णपाती [3/I.S-1.5B/C-2]
2. कीरतपुर 131.50 पश्चिमी गंगा आर्द्ध मिश्रित पर्णपाती वन [3C/C3A]
3. मकरन्दपुर गढ़ी 106.40 उत्तरी शुष्क मिश्रित पर्णपाती [5B/C-2]
4. अलीगंज 68.80
5. गदला 189.40 ढाक वन [5/E-5], नेचर कैम्प की स्थापना, प्रकृति व्याख्या केन्द्र एवं नेचर ट्रेल का निर्माण
6. न्वाबाद 330.60 जलौढ़ तृण स्थली [3/I.S.-1] फोटाग्राफी सफारी
7. लालपुरी 66.00 उत्तरी उष्ण शुष्क मिश्रित पर्णपाती [5B/C-2]
8. इमामपुरा 72.00
9. रामपुर कला 222.60 उत्तरी उष्ण शुष्क मिश्रित पर्णपाती [5B/C-2] एवं ढाक वन[5/E-5]
10. जसपुर मौजा 37.60
11. जसपुर&1]&18]20]21 A &50 6325.20 मिश्रित वन- पश्चिमी गंगा आर्द्ध मिश्रित पर्णपाती [3C/C-3A] जलौढ़ तृण स्थलीय [3/I.S.-1] उत्तरी शुष्क मिश्रित पर्णपाती [5B/C-2] शुष्क मैदानी साल वन [5B/C1B] खैर शीशम वन [5/I.S.-2] जंगल सफारी एवं फोटाग्राफी सफारी
12. कोटीरौ 1074.00 मिश्रित वन-उत्तरी उष्ण शुष्क मिश्रित पर्णपाती[5B/C-2] ढाक वन [5/E-5] एवं खैर शीशम [5/I.S.-2] जंगल सफारी एवं फोटाग्राफी सफारी
13 रानीनांगल 661.30
वन चैकी-केहरीपुर 0.80 रिजर्व क्षेत्र से निकास एवं साहसिक खेलकूद कार्यक्रम
वन चैकी-लालपुरी 0.20
वन चैकी-पीलीडैम 0.20 जीरो प्वाइंट से रिजर्व क्षेत्र में प्रवेश

Latest NEWS

15Nov

Booking for Dudhwa National Park, Motipur, Kakraha and Katerniaghat are open. Visit to forest area is permitted now.